Breaking News
Home / Politics / बीजेपी की सरकार बनने की अटकलों को लेकर बौंखला उठी महबूबा, दे गयी ऐसी धमकी कि आपको भी नहीं होगा यकीन

बीजेपी की सरकार बनने की अटकलों को लेकर बौंखला उठी महबूबा, दे गयी ऐसी धमकी कि आपको भी नहीं होगा यकीन

जम्मू-कश्मीर में बढ़ रही आतंकी गतिविधियों को देखते हुए बीजेपी ने महबूबा मुफ़्ती सरकार से समर्थन वापस लेकर बड़ा झटका दे दिया था. जिसके बाद राज्य में राज्यपाल शासन लागू हो गया था. घाटी में बढ़ रही आतंकी गतिविधियों पर महबूबा मुफ़्ती सरकार का नियंत्रण नहीं था और सेना को समर्थन नहीं मिल रहा था जिससे सेना को घाटी में चलाए जा रहे ऑपरेशन आल आउट में सहयोग नहीं हो रहा था. जिसके चलते ही बीजेपी ने अपना समर्थन वापस लिया था. वहीँ अमित शाह ने महबूबा मुफ़्ती पर यह भी आरोप लगाया था कि वह जम्मू और लद्दाख के साथ विकास को लेकर भेदभाव कर रही थी.

Image Source-The financial Express

जानकारी के लिए बता दें जम्मू-कश्मीर में सरकार गिरने के बाद नयी सरकार बनाने को लेकर कवायद तेज हो गयी हैं. जहाँ एक ओर सरकार गिरने के बाद कांग्रेस राज्य में सरकार बनाने का सपना देख रही थी वहीँ दूसरी ओर बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह ने ऐसी रणनीति चली कि सभी की नीतियाँ धराशाई हो गयी. बताया जा रहा है राज्य में बीजेपी जल्द ही सरकार बना सकती है. कयास लगाये जा रहे हैं कि अमरनाथ यात्रा के बाद नयी सरकार बनाने को लेकर ऐलान हो सकता है. पीडीपी के विधायक आबिद अंसारी ने कहा था कि पीडीपी के 14 विधायक पार्टी छोड़ने को तैयार हैं.

Image Source-Greater kashmir

गौरतलब है कि पीडीपी में बगावत के संकेत मिल रहे हैं. बीजेपी के सूत्रों का कहना है कि पीडीपी के कुछ पार्टी से नाराज चल रहे हैं, जिसके चलते वह पार्टी से बागी होकर बीजेपी को समर्थन करके राज्य में बीजेपी की सरकार बनवाने में मदद कर सकते हैं. जम्मू-कश्मीर से लगातार आ रही हैं खबरों को देखते हुए राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती बौंखला गयी हैं. जिसके चलते उन्होंने ऐसा बयान दिया है कि जानकर आप भी हैरान रह जाओगे.

Image Source-Hindustan Times

खबरें आ रही हैं कि महबूबा मुफ़्ती ने बगावती नेताओं पर कार्रवाई शुरू कर दी है. वहीँ बौंखलाई महबूबा मुफ़्ती ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए घटिया बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि अगर अगर बीजेपी और केंद्र सरकार ने पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की तो इसके बेहद ही खतरनाक परिणाम होंगे. इतना ही नहीं यह सब कहते हुए यह तक कह डाला कि अगर ऐसा हुआ तो घाटी में 1990 के दशक के जैसे हालात हो सकते हैं. उन्होंने कश्मीर और सलाउद्दीन जैसे खतरनाक आतंकियों का जिक्र भी किया है. महबूबा ने 1987 के घटनाक्रम की जानकारी देते हुए कहा है कि अगर दिल्ली की तरह लोगों के वोटिंग राइट्स को खारिज करने और कश्मीर के लोगों को बाँटने की कोशिश की तो इसके बेहद बुरे परिणाम हो सकते हैं.

आतंकी सलाउद्दीन Image Source-india.com

महबूबा ने आगे कहा है कि उस समय जिस तरह सलाउद्दीन और यासीन मलिक पैदा हुआ थे, इस बार हालात और भी खराब होंगे. महबूबा सीधा आतंकियों का उदहारण देकर डरा रही हैं. सलाउद्दीन इस समय आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का चीफ है जो कि पाक में बैठकर भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देता है. उनका यह बयान बेहद ही आपत्तिजनक है.

देखें वीडियो: 

News Source-NavbharatTimes