Breaking News
Home / Politics / बिग ब्रेकिंग न्यूज़: मायावती को चुनावों से पहले कांग्रेस को झटका, कहा हम कांग्रेस के…

बिग ब्रेकिंग न्यूज़: मायावती को चुनावों से पहले कांग्रेस को झटका, कहा हम कांग्रेस के…

देश के अधिकतर राज्यों में हार का सामना कर चुकी कांग्रेस की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. केंद्र में बीजेपी की सत्ता आने के बाद से ही पीएम मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने इतिहास रचती जा रही है. आज देश के अधिकतर राज्यों में बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियों की सरकार है. कांग्रेस का देश के अधिकतर राज्यों से सफाया हो चुका है. अपने कार्यकाल में कांग्रेस ने जो घोटाले किये उसी का नतीजा कांग्रेस को मिल रहा है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी Image Source

जानकारी के लिए बता दें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अपने बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में बने रहते हैं. अपने बयानों की वजह से ही वह लोगों के निशाने पर आ जाते हैं और फिर ट्रोल हो जाते हैं. कड़ी मुश्किलों का सामना कर रहे राहुल गाँधी और उनकी पार्टी को लेकर एक बड़ी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद सोनिया गाँधी के भी होश उड़ सकते हैं. मध्यप्रदेश में इसी साल चुनाव होना है. जिसके चलते खबरें आ रही थी कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस गठबंधन के जरिये बीजेपी को टक्कर देगी लेकिन चुनावों से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है.

बसपा सुप्रीमो मायावती का कांग्रेस को बड़ा झटका Image Source

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका 

एमपी में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है. कुछ दिन पहले खबरें आई थी कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस बसपा के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ेगी. लेकिन अब बसपा सुप्रीमो ने कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए ऐलान किया है कि वह मध्यप्रदेश में अकेले ही चुनाव लड़ेगी. कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर उड़ रही खबरों को बसपा ने खारिज किया है. उन्हें सिर्फ अफवाह बताया है. उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा है कि कांग्रेस के साथ गठबंधन के बारे में उनका कोई फैसला नहीं है.

Image Source

गौरतलब है कि मायावती ने कहा है कि प्रदेश में किसके साथ गठबंधन करना है इसके बारे में चुनाव से तीन महीने फैसला लिया जायेगा. इसी के साथ उन्होंने दावा करते हुए कहा है कि बसपा सभी 230 सीटों पर अकेले ही चुनाव लड़ेगी. पिछली बार मध्यप्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में महज 6.29 फीसदी वोट मिले थे.वहीँ बीजेपी को ४४.68 % वोटों के साथ सबसे ज्यादा वोट मिले थे. मायावती इससे पहले भी कई गठबंधन को झटका दे चुकी हैं. इससे यही देखने को मिल रहा है कि ये सभी पार्टियाँ अपने फायदे के लिए गठबंधन करती हैं. इन्हें जनता से कोई मतलब नहीं बल्कि अपने स्वार्थ के लिए ही आगे बढ़ना चाहती हैं. ऐसे में गठबंधन का आईडिया ज्यादा समय तक टिकने वाला नहीं है.

क्या ये पार्टियाँ अपने फायदे के लिए गठबंधन करती हैं ? इस पर आप अपनी राय दे सकते हैं.

News Source