Breaking News
Home / Politics / सुबह-सुबह सीएम योगी ने की ऐसी कार्रवाई कि अधिकारी भी देखते रह गये !

सुबह-सुबह सीएम योगी ने की ऐसी कार्रवाई कि अधिकारी भी देखते रह गये !

केंद्र में बीजेपी की सत्ता आने के बाद से पीएम मोदी जी ने नेतृत्व में देश के अधिकतर राज्यों में भाजपा ने अपनी सरकार बनाई है, जिसमें से के उत्तर-प्रदेश भी है. यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के बाद ही कुर्सी पर बैठे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कई बड़े फैसले लिए. उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि राज्य में अपराध को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जिसके बाद राज्य की पुलिस अपराधियों पर कहर बनकर बरपी. यूपी पुलिस ने एक के बाद एक कुख्यात अपराधी का एनकाउंटर कर बदमाशों में हडकंप मचा दिया.

पीएम मोदी जी के साथ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ Image Source

जानकारी के लिए बता दें यूपी पुलिस के हरकत में आने के बाद अपराधियों में इस कदर डर बैठ गया कि बड़े-बड़े अपराधी खुद ब खुद जाकर आत्मसमर्पण करने लगे. वहीँ प्रदेश के मुख्यमंत्री खुद ही इतने एक्टिव रहते हैं कि वह कब अचानक कहाँ निरीक्षण करने निकल जाते हैं इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है. उन्होंने कई बार औचक निरीक्षण करके अधिकारी महकमे में हडकंप मचाया है. निरीक्षण के दौरान अगर सीएम योगी को कोई भी कमी दिख जाती है तो वह तत्काल एक्शन लेते हुए अधिकारियों को सस्पेंड कर देते हैं. अब उन्होंने सुबह सुबह एक बड़ी कार्रवाई की है जिसके बाद अधिकारी भी देखते रह गये.

इटावा के अस्पताल का औचक निरीक्षण करते हुए सीएम योगी Image Source

दो जिलों के डीएम को किया सस्पेंड 

अभी हाल ही में सीएम योगी को एक ऐसी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद आप भी कहेंगे कि हर राज्य का सीएम ऐसा होना चाहिए. सीएम योगी भ्रष्टाचार को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं. उन्होंने अभी हाल ही में दो जिलों के डीएम को सस्पेंड किया है. इसके पीछे की वजह ये थी कि इन अधिकारियों पर अवैध खनन और भ्रष्टचार करने के आरोप लगे हुए थे. बताया गया कि इन अधिकारियों के संबंध खनन माफियाओं से थे. जब यह मामले सीएम योगी आदित्यनाथ तक पहुंचे तो उन्होंने तत्काल एक्शन लेते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया है.

गौरतलब है कि निलंबित होने वाले अधिकारियों में फ़तेह पुर के डीएम कुमार प्रशांत और गोंडा के डीएम जितेंद्र बहादुर सिंह हैं. सूत्रों ने बताया कि इन अधिकारियों के खिलाफ सरकार को लगातार शिकायतें आ रही थी कि यह अधिकारी अवैध खनन और किसानों से होने वाली गेंहू की खरीद में गड़बड़ी किया करते थे. जिसके चलते सीएम योगी ने यह कार्रवाई की है. इसी के साथ डीएम जितेंद्र सिंह पर अपने किसी पहचान वाले व्यक्ति को गलत तरीके से जमीन दिलवाने का आरोप भी है.

News Source